बटुकेश्वर महादेव मंदिर, खैरी - भारतीय संस्कृति और धार्मिक ऐतिहासिक विरासत का एक महत्वपूर्ण स्थल है।

 बटुकेश्वर महादेव मंदिर, खैरी - भारतीय संस्कृति और धार्मिक ऐतिहासिक विरासत का एक महत्वपूर्ण स्थल है।

 यहां की प्राचीनता और गौरवशाली मूर्तियों ने इसे एक अद्वितीय धार्मिक और सांस्कृतिक भंडार के रूप में स्थान दिया है। बटुकेश्वर महादेव मंदिर खैरी के प्राचीन इतिहास में कई महत्वपूर्ण कथाएं और पौराणिक कथाएं भी हैं।

शिव मंदिर खैरी एक प्राचीन और पवित्र स्थल है जो हरियाणा के कुरूक्षेत्र जिले में स्थित है। यहां का शिवलिंग अत्यधिक प्राचीन माना जाता है, और कहा जाता है कि यह शिवलिंग लगभग 6 से 7 फुट गहराई  तक हैं । इस अनोखे शिवलिंग को बहुत पुराने बरगद के पेड़ के बीच से प्रकट होते हुए देखा गया था, और इसे सव्यंभू महादेव के रूप में स्थानीय लोगों ने पूजा की जाती है।

शिव मंदिर खैरी का निर्माण सन् 1984 में महान योगी इतवार पूरी, जिन्हें शोटे वाले बाबा के नाम से भी जाना जाता है, ने किया था। इस मंदिर का निर्माण स्थानीय ग्रामवासियों के सहयोग से हुआ था। मंदिर का आकार और रचना अत्यंत आकर्षक है, और यहां के दर्शन करने वालों को आत्मिक शांति और सुकून का अनुभव होता है।

शिव मंदिर  बीड खैरी में आप शोटे वाले बाबा की समाधि भी देख सकते हैं। यहां के आगमन से आपको आत्मा की शुद्धि और मानवता के प्रति समर्पण की भावना होती है।

अब मन्दिर का पुनः निर्माण कार्य करने बारे शिवधाम खैरी मानव कल्याण समिति ने ग्रामवासियों के सहयोग से से यह बीड़ा उठाया हैं अतः आप भी मन्दिर निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं

महत्वपूर्ण सूचनाऑनलाइन दान करें 

Swift code PUNBINBBISB

खैरी का शिव मंदिर एक प्रमुख धार्मिक स्थल है जो स्थानीय लोगों के लिए महत्वपूर्ण है, और यहां के पर्यटकों को भी धार्मिक और आध्यात्मिक अनुभव प्रदान करता है। इसे भारतीय संस्कृति और परंपराओं का एक महत्वपूर्ण हिस्सा माना जाता है।

शिव मंदिर खैरी में आने वाले पर्यटक और श्रद्धालु धार्मिक अनुभव का आनंद लेते हैं, और इस मंदिर की सुंदरता और आत्मीयता को देखते हुए, वे अपने मन को शांत करने और आध्यात्मिकता को अनुभव करने का अवसर प्राप्त करते हैं।

 शिवधाम खैरी मानव कल्याण समिति का योगदान इस मंदिर के उन्नति और विकास में महत्वपूर्ण है। इस प्रेरक स्थल का अध्ययन करने से, हमें भारतीय संस्कृति और धार्मिकता के प्रति आदर और समर्पण की भावना में वृद्धि होती है। 

शिवधाम खैरी मानव कल्याण समिति 




Post a Comment

0 Comments